October 11, 2021 BY ivf 119 Views

बच्चेदानी में सूजन होने के क्या लक्षण है? क्या इसका निदान और उपकाहर संभव है?

बच्चेदानी की सूजन जिसे हम अंग्रेजी में एंडोमेट्रैटिस (Endometritis) भी कहते है, एक ऐसी स्थिति है जिसमें गर्भाशय के भीतर किसी प्रकार के संक्रमण के कारण सूजन आ जाती है| GCR Memorial Hospital – The Best IVF Centre in Punjab के Fertility Specialists के अनुसार, “बच्चेदानी में सूजन की समस्या महिलाओं में उनके प्रसव वर्षों में देखने को मिलती है| केवल २% मामले ही ऐसे होते है, जिनमे यह समस्या ११ या १२ वर्षीया कन्याओं में देखने को मिलती है|”

यदि आप माँ बनने के अपने सपने को बच्चेदानी में सूजन आ जाने के कारण पूरा नहीं कर पा रहे, तो उस स्थिति में आपको ज़रूरत है GCR Memorial Hospital – The Best Fertility Clinic in Moga के डॉक्टरों की सहायता लेने की|

क्या बच्चेदानी में सूजन आ जाने की वजह से, जान भी जा सकती है?

बच्चेदानी की सूजन बिलकुल भी जानलेवा नहीं है| परन्तु इसका मतलब यह कदाचित नहीं है की इस समस्या का इलाज करवाने की ज़रूरत नहीं है|

सही समय पर इलाज न करवाने पर किस प्रकार की जटिलताओं का सामना करना पड़ सकता है?

यदि इस समस्या का इलाज सही समय पर न करवाया गया तो हमारी प्रजनन प्रणाली को इसके घातक परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं:

  • प्रजनन अंगों में संरचनात्मक और कार्यात्मक दुविधाएं आ सकती है|
  • प्रजनन शमता खो सकती है|
  • इसके अतिरिक्त कई और प्रकार की सामान्य स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं पाई जा सकती है|

क्या एंडोमेट्रिओसिस की समस्या किसी प्रकर के लक्षणों को उजागर करती है?

जी हाँ| बच्चेदानी में सूजन की समस्या निम्नलिखित लक्षणों को उजागर करती है:

  • पेट में सूजन
  • पैल्विक या पेट दर्द
  • योनि से असामान्य रक्तस्राव
  • असामान्य योनि स्राव
  • मल त्याग करते समय असुविधा
  • कब्ज़
  • बुखार या ठंड लगना
  • बीमारी का सामान्य एहसास
  • अस्वस्थ या अत्यधिक थकान महसूस करना
  • यौन संचारित संक्रमण और अन्य बैक्टीरिया
  • गर्भपात
  • नार्मल डिलीवरी से बचा करने में दिक्कत होना
  • पैल्विक प्रक्रियाएं
  • गर्भाशय में बैक्टीरिया का होना
  • श्रोणि सूजन की बीमारी

किस प्रकार पता लगाया जा सकता है कि आपके बच्चेदानी में सूजन है या नहीं?

निम्नलिखित नैदानिक ​​उपाय यह पता लगाना में सहायता करते है की क्या आपकी बच्चेदानी में सूजन है या नहीं:

  • रक्त परीक्षण
  • सरवाइकल कल्चर
  • गर्भाशय ग्रीवा से स्खलन का परीक्षण
  • एंडोमेट्रियल बायोप्सी
  • लैप्रोस्कोपी या हिस्टेरोस्कोपी

किस प्रकार इस समस्या का इलाज किया जा सकता है?

जब बच्चेदानी सूजन होती है, तो निम्नलिखित विकल्पों की सहायता से डॉक्टर इस समस्या को दूर कर सकते है:

  • एंटीबायोटिक्स का रोजाना सेवं
  • आगे के उच्च परिक्षण
  • संक्रमित ऊतक को शरीर से बाहर निकलना
  • बच्चेदानी में हुए फोड़ों का इलाज करना

किस स्थिति में आपको डॉक्टरों से परामर्श अवश्य करना चाहिए?

यदि महिलान निम्नलिखित में से किसी भी स्थिति का सामना का सामना क्र रही है तो उसे उस ही समय डॉक्टरों से परामर्श लेना चाहिए:

  • अधिक पेल्विक दर्द होना
  • बांझपन
  • सामान्य श्रोणि संक्रमण
  • श्रोणि या गर्भाशय में फोड़ा होना
  • रक्तप्रवाह में बैक्टीरिया
  • सेप्टिक सदमे